छत्तीसगढ़सारंगढ़

झूठी शिकायत! पंचायत के खिलाफ़ झूठी शिकायत से ग्रामीणों में आक्रोश…

सामुदायिक भवन हेतु प्रस्तावित शासकीय भूमि कमी कर रहा था अतिक्रमण ?

सारंगढ़। शासकीय भूमि में बलात कब्जा करने वालों की सारंगढ़ में कमी नही है, लेकिन आपत्ति जताने वालों पर डर बनाने उल्टा शिकायत करने का मामला बहुत ही कम देखने मिलता है। हम शिकायत को झूठ या गलत नही ठहरा रहे ये तो कानून का काम है लेकिन ग्रामीणों की माने तो ग्राम खम्हारडीह में समुदायिक भवन हेतु चिन्हहित भूमि में जबरन अतिक्रमण कर निजी भवन बनाने हेतु दीवार खड़े करने पर पंचायत द्वारा आपत्ति करना भारी पड़ा। शख्स धन एवं बल के साथ राजनितिक पकड़ रखता है जिसने अपने प्रभाव का उपयोग कर उल्टा पंचायत कर्मियों पर केश दाखिल कर दिया है।

क्या है पुरा मामला –

पंचायत द्वारा थाना प्रभारी को दिए शिकायत के अनुसार ग्राम खम्हारडीह में सामुदायिक भवन निर्माण हेतु भूमि खसरा नं.61/1 र.0.9140 हे. के एक टुकड़े को ग्राम सभा प्रस्ताव पर चिन्हांकित किया गया था। जिसके बाद थानसिंह देवांगन पिता घुरऊ देवांगन निवास सारंगढ़ के द्वारा शासकीय चिन्हांकित भूमि 61/1 का रकबा 0.9140 हे. पर अपना धन बल व प्रभाव से अतिक्रमण कर स्वयं के निजी का निर्माण हेतु नीव खोदकर कर कालम खड़ा कर 4 फिट दीवार सृजित कर लिया है। इस निर्माण को रोक लगाने हेतु समस्त ग्राम वासियों द्वारा दिनांक 20/11/2023 को तहसीलदार सारंगढ़ को प्रथम आवेदन दिया गया था जिसके फल स्वरुप से मांग तहसीलदार द्वारा कार्य पर स्थगित आदेश जारी कर दिया गया।
जिससे थानसिंह देवांगन क्रोधित होकर सरपंच भगवती यादव सचिव पन्नालाल चंद्रा एवं समारू लाल के खिलाफ थाना सारंगढ़ में झूठा शिकायत दायर किया है जोकि बेबुनियाद है।

झूठी शिकायत करने पर ग्रामीणों में बढ़ा आक्रोश –

थानसिंह देवांगन के अतिक्रमण के मद्देनज़र ग्रामीणों के शिकायत पर तहसीलदार ने निर्माण कार्य पर रोक लगा दी है जिससे नाराज होकर थानसिंह द्वारा थाने में पंचायत की महिला सरपंच एवं सचिव के खिलाफ़ थाने में झूठी शिकायत कर दी गई है जिस कारण से ग्राम खम्नहरडीह में थानसिंह के खिलाफ़ आक्रोश व्याप्त है, झूठे शिकायत पर उचित कार्रवाई नही होने पर गुस्सा तीव्र होने की संभावना है।

Related Articles