आयुक्त वाहवाही लूटने में लगे?