रायपुर

सीएम बघेल ने सरपंचों को लेकर किया बड़ा एलान, 50 लाख रुपया तक के काम करवा सकेगी ग्राम पंचायते, मान देय भी बढ़ाया

रायपुरः छत्तीसगढ़ में भी पंचायत चुनाव की तैयारियां चल रही है, इस बीच आज भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की जयंती पर कांग्रेस ने पंचायत राज सम्मेलन का आयोजन किया, इस दौरान सीएम बघेल ने सरपंचों को लेकर एक बड़ी घोषणा की है.
बता दें कि पंचायत राज सम्मेलन में त्रिस्तरीय पंचायती राज के पंच से लेकर सरपंच, जनपद पंचायत सदस्य, जनपद अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य, जिला पंचायत अध्यक्ष ने भाग लिया. सम्मेलन में नये छत्तीसगढ़ के निर्माण में पंचायतों और पंचायत प्रतिनिधियों की भूमिका पर मंथन किया जा रहा है.

सीएम बघेल ने बढ़ाया सरपंचों का वेतन


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ में सरपंचों का वेतन बढ़ाने का ऐलान किया है. सीएम ने कहा कि सरपंचों का मानदेय दो हजार से बढ़ाकर चार हजार किया जाएगा. जबकि उन्होंने कहा कि सरपंच अब अपनी ग्राम पंचायत में 50 लाख रुपए तक के काम करवा सकेंगे. ताकि ग्राम पंचायतों में बेहतर सुविधाएं मिल सके. उन्होंने कहा कि सरपंचों को ज्यादा से ज्यादा काम अपनी ग्राम पंचायत में करवाने चाहिए. क्योंकि इससे आम लोगों को सबसे ज्यादा फायदा होगा.

केंद्र सरकार पर साधा निशाना


इस दौरान भूपेश बघेल ने केंद्र सरकार पर भी जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि अभी पांच राज्यों के चुनाव है, लेकिन पेट्रोल और डीजल के दाम इनके सूपड़ा साफ होने के बाद ही कम होंगे. तीन कृषि कानूनों को वापस लेने को लेकर सीएम ने कहा कि किसान तो लगातार अपनी मांग पर अड़े हुए थे. लेकिन भाजपा और सत्ता कभी आतंकवादी, कभी पाकिस्तान समर्थक कहती थी. अपमान के लिए कोई कसर नहीं छोड़ा. आज केंद्र सरकार के पास कोई रास्ता नहीं बचा. तब उन्होंने कृषि कानूनों को वापस लिया.

बता दें कि छत्तीसगढ़ में भी पंचायत चुनाव की तैयारियां चल रही है, ऐसे में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरपंचों का मानदेय बढ़ाने की घोषणा अहम मानी जा रही है. जबकि सीएम ने पंचायतों में सरकारी काम कराने के लिए भी 50 लाख रुपए की तक की घोषणा कर दी है.

वहीं इस दौरान प्रकाश पर्व में शामिल होने पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि आज पूरी दुनिया में जहां भी सिख समाज के लोग निवास कर रहे हैं, सभी गुरुद्वारों में आज संगत की जा रही है. गुरु नानक की आज जयंती है. मानवता और सेवा की जो सिख गुरु नानक जी ने दी है, सिख समाज में देखने को मिलता है. जब कोरोना का संकट आया तब हमने देखा कि लगातार अलग-अलग गुरु गुरुद्वारों के माध्यम से सिख समाज के लोगों ने कितनी मदद की.

Related Articles