कोरबाछत्तीसगढ़

भाजपा नेता OP चौधरी माफी मांगो नही तो उग्र आंदोलन स्थानीय लोंगो में भारी आक्रोश

कोरबा. पूर्व आईएएस एवम बीजेपी नेता ओपी चौधरी के वायरल पोस्ट को लेकर पुलिस द्वारा लिखित शिकायत के आधार पर अपराध पंजीबद्ध किया गया है। पुलिस के इस कार्रवाई के बाद भाजपा नेताओं द्वारा बयानों का सिलसिला भी चालू हो गया है। विपक्ष ने पुलिस के इस कार्रवाई को द्वेष पूर्ण बताया है, वही पुलिस ने शिकायत एवं ग्रामीणों के जन भावनाओं के आधार पर विवेचना में लेने की बात कही है।

स्थानीय ग्रामीणों की मानें तो भाजपा नेता द्वारा किए गए वायरल पोस्ट में कोयला चोरी करने का दावा करते हुए हजारों मजदूरों को चोर कहते हुए उनकी भावनाओं को ठेस पहुंचाया गया है जिसे लेकर अब स्थानीय ग्रामीणों के साथ-साथ महिलाएं भी लामबंद हो गई है और ओपी चौधरी को माफी मांगने को कह रही हैं और माफी नहीं मांगने पर वृहद आंदोलन करने की भी बात कही जा रही है।

आप देख सकते हैं इस तस्वीर में लोगों का जन समूह जो अपने हाथों में तख्ती लिए हुए है। इस तख्ती में लिखा हुआ है हम आदिवासी चोर नहीं है ओपी चौधरी माफी मांगो माफी मांगो छत्तीसगढ़िया चोर नहीं है,ओपी चौधरी माफी मांगो माफी मांगो

स्थानीय ग्रामीणों की माने तो भाजपा नेता द्वारा वायरल किए गए वीडियो को 2 वर्ष पूर्व भी देखने का दावा किया गया है जो सोशल मीडिया में कई बार वायरल हो चुका है। बीजेपी नेता द्वारा इस 2 वर्ष पुराने वीडियो को वायरल करते हुए छत्तीसगढ़ सरकार को बदनाम करने की कोशिश के साथ-साथ स्थानीय ग्रामीणों को भी चोर साबित करने का प्रयास किया गया है। क्या इस वीडियो को वायरल कर भाजपा नेता द्वारा राजनैतिक रोटी सेंकने की तैयारी है?

इस विरोध को लेकर ग्रामीणों ने चेतावनी देते हुए कहा है भाजपा नेता माफी मांगे नही तो आगामी दिनों में वृहद आंदोलन करने की चेतावनी दी है। अब हालात यह है कि नेता जी के पोस्ट पर शिकायत और पुलिस की कार्रवाई, प्रदेश सरकार पर आरोप, बीजेपी नेताओं की प्रतिक्रिया के बाद स्थानीय लोगों के विरोध में भाजपा नेता की मुश्किलें फिर से बढ़ती हुई दिख रही है। अब देखना होगा जांच के बाद ऊंट किस करवट बैठता है।

Related Articles